कालसर्पदोष शांति महायज्ञ 2019 - 03 August से 05 August नागपंचमी तक (कालसर्प दोष, पितृ दोष, विष दोष, ग्रहण दोष, प्रेत दोष आदि का सम्पूर्ण उपचार)

   
कालसर्प दोष शान्ति महायज्ञ
नागपंचमी, 03-05 August, 2019
For More Info +91-9896772121,+91-9466435303
Email- panditramraj@gmail.com

Tap To Call

कालसर्पदोष शांति महायज्ञ 2016

कालसर्पदोष शांति महायज्ञ 2016 –05 अगस्त से 07 अगस्त नागपंचमी तक सूर्य कुण्ड(सन्नहित सरोवर )कुरुक्षेत्र में संपन्न होगा !

(कालसर्प दोष, पितृ दोष, विष दोष, ग्रहण दोष, प्रेत दोष आदि का सम्पूर्ण उपचार)

प्रिय भक्तजनों,

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी आप अपने जीवन को सुख समृद्ध बनाने के लिए इस महायज्ञ में भाग ले और अपने सगे-सम्बन्धियों, मित्रों को भी इस महायज्ञ में भाग लेने के लिए प्रेरित करें जो भी इन दोषों से पीडि़त है ताकि आप की वजह से किसी का जीवन खुशहाल हो सके जिससे आप को दुआऐं मिले।

इस महायज्ञ में विद्वान ब्राह्मणों द्वारा निचे लिखी सभी पूजा करवाकर सभी दोषों का निवारण किया जाता है :-

  1. गणेश अम्बिका पूजन   2 नवग्रह शांति पूजा  3 प्रेत मुक्ति पूजन 4 सभी क्षेत्रपालों यानि कि 49 प्रकार के खेड़ों का पूजन  5- 64योगनियो और शीतला माता, मदानन आदि सहित 16 माताओं का पूजन6 – भगवान शिव का रुद्राभिषेक  7 – पितरों की शांति हेतु त्रिपिंडी श्राद्ध   8- सर्पों की देवी माँ मनसा का पूजन  9 – सर्प शाप, संतान दोष आदि का पूजन  10 – महाविधा से शरीर का झाडा और रक्षा कवच  11 – सम्पूर्ण दोष मुक्ति हवन।

इन सभी 11 प्रकार की पूजाओं के पश्चात प्रसाद ग्रहण कर संस्था द्वारा सिद्ध यंत्र, मन्त्र, कवच, रुद्राक्ष माला अपने साथ अवश्य ले जाऐं।

जानिए आप किस दोष से हैं पीडि़त ? क्या हैं इन दोषों के लक्षण

स्वप्न में सर्प दिखाई देना, नींद से घबराकर उठना और भय से काम्पने लगना, नजऱ टोना टोटका होना, कार्य व्यापार नोकरी में मन न लगना, लडक़े-लडक़ी का विवाह समय पर न होना, मेहनत का फल न मिलना, सर्प को मारना व् मरते देखना, आपके वाहन के आगे गाय,बछड़ा,बिल्ली का दुर्घटना होना, सपने में झोटा,बैल, हाथी, कुत्ता, बिल्ली या सर्प का आप पर झपटते दिखना। कोए गीध ऊँचे पहाड से गिरना, नदी में डूबता दिखना, शरीर में कई रोग अचानक आना और बच्चो के पैदा होते ही बीमार होना, संतान का कहने से बाहर होना, कोर्ट कचहरी में झूठे मुकदमें में फंसना भूत-प्रेत से परेशानी, पति-पत्नी और संतान का व्यवहार ठीक न होना दोनों शंका में पडकर अपनी ग्रहस्थी को खराब करना, मृत्यु का भय, बार-बार गर्भ खराब होना, प्रमोशन में बाधा आना।  अगर ये लक्षण किसी भी प्रकार से आप में है तो आपकी कुंडली या आप इन दोषों से शापित हैं।

तुरंत आप इस महायज्ञ में भाग लेने के लिए पंजीकरण करवायें।

सम्पूर्ण दोष शांति महायज्ञ समिति,

गायत्री ज्योतिष अनुसन्धान केंद्र,

ब्रह्मसरोवर, कुरुक्षेत्र।

संपर्क करें :- 098967-72121, 094664-35303, 082228-72121, 086078-03300

Web- www.kalsarpdosh.com

Email- panditramraj@gmail.com

Comments are closed.